Header Ads

तेज गर्म चाय पीने के दीवानों को वैज्ञानिक चेतावनी, इस मजा में है सजा

HEALTH TIPS

चाय के दीवानों के लिए एक खास सावधानी। यदि आप खूब तेज गर्म चाय पीने के शौकीन हैं तो संभल जाइए और अपनी आदत को फौरन बदल डालिए वरना आप भारी मुसीबत में फंस सकते हैं। चीन में अभी हाल ही में हुए एक शोध में बताया गया है कि यदि आप 65 डिग्री के उच्च तापमान पर खौल रही चाय की सिप का मजा फौरन लेना शुरू कर देते हैं तो आपको खाने की नली में कैंसर होने का खतरा हो सकता है। यह खतरा तब और बढ़ जाता है यदि आप शराब और सिगरेट पीने के भी आदी हों। चीन में हुए इस शोध में शोधकर्ताओं ने पाया कि शराब और सिगरेट के आदी लोगों को यदि तेज गर्म चाय पीने की भी आदत है तो उन्हें वैसे लोगों से पांच गुना भोजन की नली का कैंसर होने का खतरा होता है जिनमें ऐसी कोई आदत नहीं है। ऐसी आदतों से जिस प्रकार का कैंसर होता है वह भोजन की नली में होनेवाला सबसे कॉमन कैंसर है। शोध में यह भी बताया गया है‌ कि भोजन की नली के कैंसर के मामले में दुनिया में चीन का पहला स्‍थान है। हालांकि शोध से यह भी स्पष्ट हुआ है कि इन तीन आदतों के कारण उत्पन्न होनेवाला भोजन की नली का कैंसर अमेरिका में भी बहुत ही सामान्य है। यह बताया गया है कि शराब, सिगरेट और खूब गर्म चाय पीने से भोजन की नली में कैंसर पैदा करनेवाले सेल्स के विकसित हो जाने का खतरा बढ जाता है। शोधकर्ताओं ने यह भी स्पष्ट किया है कि हालांकि इस बात का वैज्ञानिक आधार बनाने का मैकेनिज्म अभी पैदा नहीं हो पाया है‌ कि आखिरकार तेज गर्म चाय पीने से कैंसर का खतरा क्यों पैदा हो जाता है फिर भी शोधकर्ताओं का मानना है कि 65 डिग्री सेल्सियस से अघिक के तापमान पर खौलती हुई चाय को लंबे समय तक पीने की आदत के कारण भोजन की नली की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है और नली की लाइनिंग क्षतिग्रस्त हो जाती है। इसके साथ खूब शराब और सिगरेट पीने से भी भोजन की नली के डीएनए क्षतिग्रस्त हो सकती है। ये सारे फैक्टर मिलकर 65 डिग्री सेल्सियस पर खौलती चाय को लंबे समय तक पीने से कैंसर के रिस्क को बढ़ा देते हैं।

No comments