Header Ads

कृपया ध्यान दें, Income Tax Department अब आपके लिए मुसीबत पैदा करने वाला है इनकम टैक्स रिटर्न

 Income Tax Department

सरकार ने अभियान चलाने और विभिन्न प्रयासों के तहत इनकम टैक्स चुकाने के लिए देश के लोगों को प्रोत्साहित किया जिससे 90 करोड़ नए आयकर दाता सिस्टम में आ गएा। इससे सरकार को भारी फायदा हुआ है। अब एक नए अभियान के तहत सरकार आयकर रिटर्न नहीं भरने वालों को ऐसा करने के‌ लिए प्रोत्साहित करनेवाली है। हालांकि यह अभियान सिर्फ प्रोत्साहित करनेवाला नहीं है बल्कि इसमें दंड का भी प्रावधान है। इसका संकेत वित्त मंत्री अरुण जेटली के एक बयान से मिलता है। एक निजी चैनल से बात करते हुए जेटली ने साफ तौर पर कहा है कि आयकर रिटर्न नहीं भरने वालों पर सरकार सख्ती से पेश आ सकती है। वित्त मंत्री ने कहा कि जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। अरुण जेटली ने कहा कि आयकर रिटर्न नहीं भरने वालों को सरकार की तरफ से लागू स्टैंडर्ड डिडक्शन टैक्स छूट नियमों में लाभ नहीं मिलेगा। टैक्स नियमों में बदलाव किया जाएगा। यह नियम एक अप्रैल से लागू होगा। इसके तहत अगर कोई भी व्यक्ति आयकर रिटर्न नहीं भरता है तो उसे सरकार की और से कोई लाभ नहीं मिलेगा। इससे पहले एक फरवरी बृहस्पतिवार को लोकसभा में वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा मोदी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट पेश किया गया। नए बजट में इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। आमदनी में से 40 हजार रुपये घटाकर टैक्स लगेगा । यानी जितनी आमदनी है उसमें 40 हजार घटाकर टैक्स लगेगा। 40 हजार रुपये तक स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलेगा। नौकरी पेशा को कोई छूट नहीं मिलेगी। डिपॉजिट पर मिलने वाली छूट 10 हजार से बढ़ाकर 50 हजार हुई। सीनियर सिटीजन को राहत दी गई है।

No comments